गणित का पर्चा लीक मामले में तीन गिरफ्तार

सहारा न्यूज ब्यूरो, नई दिल्ली

बारहवीं कक्षा के अर्थशास्त्र के प्रश्नपत्र को लीक करने के आरोप में क्राइम ब्रांच ने हिमाचल प्रदेश के ऊना से जिस स्कूल शिक्षक राकेश कुमार को धर दबोचा था, उसने ही दसवीं के गणित के पेपर का भी पर्चा लीक किया था।

इसका खुलासा करते हुए दिल्ली पुलिस ने दावा किया कि इस रैकेट में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के मैनेजर शेरू राम तथा हेड कैशियर ओमप्रकाश की भी महत्वपूर्ण भूमिका थी और पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार करते हुए राकेश की भाभी मंजूबाला (बदला हुआ नाम) को भी फिरोजपुर से पकड़ा है।

पकड़ी गई महिला पर गणित का पर्चा व्हाट्सएप के जरिए सर्कुलेट करने का आरोप है। बहरहाल आरोपियों से पूछताछ जारी है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने बताया कि क्राइम ब्रांच ने हाल ही में 12वीं के अर्थशास्त्र का पेपर लीक करने के मामले में ऊना से तीन लोगों को पकड़ा था। इनमें राकेश एक परीक्षा केन्द्र का सेंटर सुपरिटेंडेंट था जबकि अमित व अशोक उसके स्कूल के सहकर्मी थे।

पुलिस ने तीनों आरोपियों को रिमांड पर लेकर जब गहन पूछताछ की तब राकेश ने कई अहम खुलासे किए।