केजी बेसिन से 2020 में शुरू होगा गैस का उत्पादन : मुकेश अंबानी

आईएएनएस, मुंबई

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने गुरुवार को केजी बेसिन परियोजना से 2020 में प्राकृतिक गैस का उत्पादन शुरू होने की उम्मीद जताई। मुकेश अंबानी ने कहा कि आरआईएल ने जामनगर स्थित अपनी रिफाइनरी में दुनिया के सबसे बड़ी पैराक्सीलिन और ऑफ-गैस क्रैकर फैसिलिटी दोनों की सफलतापूर्वक स्थापना की है और कंपनी को 2020 में कृष्णा-गोदावरी (केजी) बेसिन से गैस मिलने की उम्मीद है।

आरआईएल की सालाना आम बैठक को संबोधित करते हुए अंबानी ने कहा कि आलोच्य अवधि के दौरान कंपनी के हाइड्रोकार्बन कारोबार की क्षमता विस्तार हुआ है और यह अधिक लाभकारी, समेकित और आय अर्जित करने का सूचक बन गया है।

उन्होंने कहा, "हम जामनगर में अपने अब तक के सबसे बड़े निवेश के आखिरी दौर में आ गए हैं और और हमने सफलतापूर्वक दुनिया के सबसे बड़े पैराक्सीलिन कांप्लेक्स की स्थापना कर इसे सुस्थिर किया है।"

मुकेश अंबानी ने कहा, "रिलायंस दुनिया में पैराक्सीलिन का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है और जामनगर में पैराक्सीजिन उत्पादन केंद्र दुनिया में विशिष्ट और सबसे बड़ा होगा जिसकी उत्पादन क्षमता 42 लाख टन है।"

उन्होंने कहा, "हमने दुनिया के सबसे बड़े ऑफ-गैस क्रैकर कांप्लेक्स की स्थापना की है। हमारी रिफाइनरी के ऑफ-गैस को फीडस्टॉ के रूप में इस्तेमाल करने से यह क्रैकर दुनियाभर में सबसे लागत प्रतिस्पर्धी इथीलिन क्रैकर बन गया है।"

कंपनी ने जून में कहा कि क्षमता में प्रसार, उच्च संचालन दर और लागत प्रतिस्पर्धा में सुधार और बेहतर मुनाफे की बदौलत वर्ष 2017-18 में आरआईएल के रिफानरी और पेट्रोकेमिकल कारोबार में रिकॉर्ड स्तर पर लाभ दर्ज किया गया।

अंबानी ने एक्सप्लोरेशन कारोबार में ब्रिटिश कंपनी बीपी के साथ आरआईएल के संयुक्त निवेश योजना की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि पूर्वी समुद्र तट स्थित केजी बेसिन डी-6 ब्लॉक में नए क्षेत्र से 3000 अरब क्यूबिक फीट गैस की आपूर्ति की जाएगी।

उन्होंने कहा, "हम 2020 में गैस उत्पादन शुरू करने के लिए कई उन्नत प्रौद्योगिकी अपनाएंगे और 2022 तक रोजाना 300-350 लाख मानक क्यूबिक मीटर गैस का उत्पादन पूरा कर सकेंगे।"