किम जोंग से दोबारा मिलने की प्रबल संभावना : ट्रंप

,

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि ऐसी प्रबल संभावना है कि वह उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन से दोबारा मुलाकात करेंगे। इससे पहले दोनों नेताओं के बीच जून में ऐतिहासिक मुलाकात हुई थी।
ट्रंप ने सोमवार को व्हाइट हाउस में रॉयटर्स के साथ साक्षात्कार के दौरान एक सवाल के जवाब में यह बात कही। एक अन्य समाचार एजेंसी के अनुसार, ट्रंप ने कहा, ‘ऐसी प्रभल संभावना है कि हमारी मुलाकात होगी लेकिन मैं इस पर अधिक बोलना नहीं चाहता।’ ट्रंप ने इस मुलाकात के समय और स्थान के बारे में कोई जानकारी नहीं दी। उन्होंने कहा, ‘मुझे वह पसंद हैं। वह मुझे पसंद करते हैं। कोई बैलिस्टिक मिसाइल नहीं छोड़ी जा रही है। बहुत शांति है.. मेरे किम के साथ बहुत अच्छे व्यक्तिगत संबंध हैं और मुझे लगता है कि यह बरकरार रहेंगे।’ सिंगापुर में 12 जून की बैठक में किम ने अमेरिका से सुरक्षा गारंटी के बदले कोरियाई प्रायद्वीप के ‘पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण’ की ओर काम करने की प्रतिबद्धता जताई थी।
संघीय आव्रजन अधिकारियों को सम्मानित किया : राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संघीय आव्रजन अधिकारियों को व्हाइट हाउस में एक समारोह में सम्मानित किया। राष्ट्रपति ने अमेरिकी आव्रजन एवं सीमा शुल्क प्रवर्तन और सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा कर्मचारियों को सम्मानित किया। प्रवासी बच्चों (जो यहां अमेरिकी-मैक्सिको सीमा पार कर आए) को उनके माता-पिता से अलग करने की ट्रंप प्रशासन की नीति के बाद से इन संघीय एजेंसियों पर लगातार निशाने साधे जा रहे थे। ट्रंप ने कहा, ‘हम आप से प्यार करते हैं, हम आपका समर्थन करते हैं, हमें हमेशा आप का समर्थन रहेगा।’
उ. कोरिया के वादे पर अमल करने के संकेत नहीं
वियना (एएफपी)। परमाणु कार्यक्रमों पर नजर रखने वाले संयुक्त राष्ट्र के संगठन ने कहा कि इस बात का कोई संकेत नहीं मिला है कि परमाणु निरस्त्रीकरण के संकल्प के बाद उत्तर कोरिया ने अपनी परमाणु गतिविधियों पर विराम लगाया है। इंटरनेशनल एटॉमिक एनर्जी एजेंसी (आईएईए) की ओर मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि डीपीआरके के परमाणु कार्यक्रम के जारी रहने और उसमें प्रगति होने एवं डीपीआरके के बयान से गंभीर चिंता पैदा होती है।’