कान्स 2018 : लैंगिक असमानता को लेकर महिला कलाकारों का रेड कार्पेट पर विरोध

आईएएनएस, कान्स

कान्स फिल्मोत्सव में दर्जनभर महिला फिल्म स्टार्स ने इंडस्ट्री में लैंगिक असमानता को लेकर विरोध दर्ज किया। बीबीसी के मुताबिक, रेड कार्पेट पर इस विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने वालों में केट ब्लैंचेट, क्रिस्टिन स्टुअर्ट और जेन फोंडा रहीं।

कान्स में महिला निर्देशकों की अधिक फिल्म नहीं दिखाए जाने की वजह से यह फिल्मोत्सव आलोचना का सामना कर रहा है।

हॉलीवुड फिल्म निर्माता हार्वे विंस्टिन पर पिछले साल यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद यह पहला कान्स फिल्मोत्सव है। हालांकि, हार्वे ने खुद पर लगे यौन उत्पीड़न आरोपों से हमेशा इनकार किया है।

कान्स फिल्मोत्सव के रेड कार्पेट पर अभिनेत्रियों ने एक-दूजे का हाथ पकड़कर अपना विरोध दर्ज कराया। केट ब्लैंचेट ने फिल्म इंडस्ट्री में लैंगिक असमानता पर बात की।

दो बार ऑस्कर जीत चुकी केट ने कहा, "हम 82 महिलाएं हैं, जो 1946 में पहला कान्स फिल्मोत्सव होने के बाद से सफलता की सीढ़ियां चढ़ने वाली महिला निर्देशकों का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। इस समान अवधि में 1,688 पुरुष निर्देशकों ने भी सफलता की इन्हीं सीढ़ियों को चढ़ा है।"

उन्होंने कहा, "प्रतिष्ठित पाम डे ओर पुरस्कार 71 पुरुष निर्देशकों को दिया गया लेकिन यह सिर्फ दो महिला निर्देशकों को ही मिला।"

इस विरोध प्रदर्शन में कान्स फिल्मोत्सव की महिला जूरी की सभी सदस्य और कई अभिनेत्रियां, निर्देशक और निर्माताओं ने हिस्सा लिया।

वुमेन एंड हॉलीवुड की कार्यकर्ता और निर्माता मेलिसा सिल्वरस्टेन ने कहा कि यह प्रदर्शन बदलाव की दिशा में मील का पतथर है।