कर्नाटक: अमित शाह ने लिंगायत संत शिवकुमार स्वामी से की मुलाकात

भाषा, बेंगलूरु

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने टुमकुरू के सिद्धगंगा मठ में आज लिंगायत समुदाय के संत शिवकुमार स्वामी से मिलकर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया और कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे की शुरुआत की।         

गौरतलब है कि कर्नाटक में अप्रैल-मई महीने में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।          

शिवकुमार स्वामी से शाह की मुलाकात को लिंगायत/वीरशैव समुदाय तक पहुंच कायम करने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। राज्य में इस समुदाय की आबादी अच्छी-खासी है और यह राजनीतिक तौर पर ताकतवर माना जाता है। इस समुदाय में भाजपा की अच्छी पैठ बताई जाती है।            

स्वामी और शाह की मुलाकात इसलिए भी अहम है क्योंकि यह ऐसे समय में हो रही है जब पिछले दिनों ही कर्नाटक की सिद्दारमैया सरकार ने केंद्र से सिफारिश की है कि वह लिंगायत और वीरशैव लिंगायत समुदाय को धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा दे। सिद्दारमैया सरकार के इस कदम को लिंगायतों को भाजपा से दूर करने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है।             

शाह ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘आज मुझे सिद्धगंगा मठ, टुमकुरू के श्री श्री श्री शिवकुमार स्वामीजी से आशीर्वाद प्राप्त करने का सौभाग्य मिला। इस उम्र में भी उनका अथक कार्य प्रेरणादायी है। उनका जीवन एक जीता-जागता सबक है और हम सबके लिए मार्गदर्शक है।’’              

भाजपा अध्यक्ष ने उनके दिर्घायु होने की कामना की और शिक्षा के जरिए समाज के सभी वर्गों को साथ लाने के उनके प्रयासों को सराहा।            

लिंगायत और दलित समुदायों से जुड़े मठों में जाने के अलावा शाह किसानों और व्यापारियों की सभाएं और पार्टी के कार्यक्रमों को संबोधित करेंगे। वह रोड शो भी कर सकते हैं।     

मध्य कर्नाटक के अपने दौरे के तहत कल (मंगलवार) शाह बेक्किनकल, सिरगेरे और मुरुगा मठों में जाएंगे।