'कपिल देव से मेरी तुलना ना करें, मुझे हार्दिक पंड्या ही रहने दें'

भाषा, नाटिंघम

हरफनमौला हार्दिक पंड्या ने कहा है कि महान खिलाड़ी कपिल देव से उनकी तुलना बेमानी है और उन्हें इससे बख्शकर अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन करने देना चाहिये।     

पंड्या के पांच विकेट की मदद से भारत ने तीसरे क्रिकेट टेस्ट में इंग्लैंड को पहली पारी में 161 रन पर आउट कर दिया। भारत ने दूसरी पारी में दो विकेट पर 124 रन बना लिये और अब उसके पास 292 रन की बढत हो गई है।
         
पंड्या ने कहा, ‘‘तुलना ठीक है लेकिन समस्या तब होती है जब प्रदर्शन खराब होता है और लोग अचानक कहने लगते हैं कि यह वह नहीं है। मैं कभी कपिल देव बनना नहीं चाहता था। मुझे हार्दिक पंड्या ही रहने दें। मैं इसी मैं खुश हूं और हार्दिक पंड्या बनकर ही 40 वनडे और 10 टेस्ट खेले हैं, कपिल देव बनकर नहीं।’’          

उन्होंने कहा ,‘‘ उन्होंने अपना दौर बनाया। मुझे हार्दिक पंड्या ही रहने दें। मेरी तुलना किसी से मत कीजिये। आप ऐसा नहीं करेंगे तो मुझे खुशी होगी।’’    

पंड्या ने अपने आलोचकों पर प्रहार करते हुए कहा ,‘‘ मैं उनके लिये नहीं खेलता। उन्हें इस तरह की बातें कहने के पैसे मिलते हैं जिसकी मैं परवाह नहीं करता। मैं अपने देश के लिये खेलता हूं। मैं सही खेल रहा हूं और मेरी टीम मुझसे खुश है तो कुछ और मायने नहीं रखता।’’