ओवल टेस्ट : इंग्लैंड ने दिया 464 रन का लक्ष्य, भारतीय पारी लड़खड़ाई

आईएएनएस, लंदन

भारत ने यहां ओवल मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ जारी पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के आखिरी मैच की चौथी पारी में तीन विकेट के नुकसान पर 58 रन बना लिए हैं। सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (नाबाद 46) और अंजिक्य रहाणे (नाबाद 10) क्रीज पर टिके हुए हैं। मेजबान टीम ने चौथे दिन सोमवार को आठ विकेट पर 423 रन बनाकर अपनी पारी घोषित की। पहली पारी में मिली 40 रनों की बढ़त के आधार पर इंग्लैंड ने भारत को कुल 464 रनों का लक्ष्य दिया।

इंग्लैंड द्वारा दिए गए पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करते हुए मेहमान टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने सलामी बल्लेबाज शिखर धवन को एक के निजी स्कोर पर आउट करके भारत को पहला झटका दिया ।

तीसरे नंबर पर आए चेतेश्वर पुजारा बिना खाता खेले पवेलियन लौट गए। पुजारा को आउट करके एंडरसन ने टेस्ट क्रिकेट में कुल 563 विकेट हासिल किए और आस्ट्रेलिया के महान गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा की बराबरी कर ली। इस मैच से पहले एंडरसन ने अपनी धारदार गेंदबाजी के दम पर कुल 559 विकेट लिए थे। मैच की दूसरी और चौथी पारी में दो-दो विकेट लेकर वह मैकग्रा के बराबर आ गए। एंडरसन यह रिकॉर्ड बनाने के लिए कुल 143 मैच खेले जबकि मैकग्रा ने केवल 124 मैचों में भी इतने विकेट लिए थे।

कप्तान विराट कोहली भी भारतीय पारी को संभाल नहीं पाए और बिना खाता खोले आउट हो गए, उन्हें तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने पवेलियन भेजा।

इससे पहले, मेजबान टीम ने तीसरे दिन के अपने स्कोर दो विकेट पर 114 रनों से आगे खेलना शुरू किया और अपना आखिरी मैच खेल रहे एलिस्टर कुक (145) ने कप्तान जोए रूट (125) ने तीसरे विकेट के लिए 259 रनों की साझेदारी कर इंग्लैंड को मजबूत स्थिति में पहुंचाया।

अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे हनुमा विहारी ने भोजनकाल के बाद रूट को पवेलियन भेजा और कुछ देर बाद कुक को आउट किया।

तेज गेंदबाजों ने भी धारदार गेंदबाजी की और जॉनी बेयरस्टो (18) एवं जोस बटलर (0) को आउट किया। बेयरस्टो को मोहम्मद शमी जबकि बटलर को रविंद्र जडेजा ने पवेलियन की राह दिखाई। इसके बाद, इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने तेजी से रन बनाए। हरफनमौला खिलाड़ी बेन स्टोक्स ने 37 और सैम कुरेन ने 21 रनों का योगदान दिया। आदिल राशिद 20 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे।

भारत के लिए इस पारी में हनुमा विहारी और रवींद्र जडेजा ने तीन-तीन विकेट लिए जबकि मोहम्मद शमी को दो विकेट मिले।

इंग्लैंड इस सीरीज को पहले ही अपने नाम कर चुका है।