उ.प्र. में 'भारत' बंद' का मिला-जुला असर, मुख्यमंत्री ने बताया हताशा का नतीजा

भाषा, लखनऊ

पेट्रोलियम पदार्थो की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस द्वारा सोमवार को आहूत 'भारत बंद' का उत्तर प्रदेश में मिला-जुला असर रहा। प्रदेश के विभिन्न जिलों से मिली खबरों के मुताबिक 'भारत बंद' का मिला-जुला असर नजर आया। ज्यादातर बाजार और अन्य दुकानें सामान्य दिनों की तरह ही खुली रहीं। इसके अलावा कार्यालय, स्कूल और कालेज भी खुले। सड़कों पर यातायात भी सामान्य रहा।     

राज्य सरकार ने बंद के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जबरन दुकानें बंद कराने वालों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिये थे। विशेषकर पेट्रोल पम्पों पर किसी तरह की अप्रिय घटना रोकने के लिये सुरक्षा प्रबन्ध किये गये थे।     

इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पेट्रोलियम पदार्थो की बढ़ती कीमतों के विरोध में कांग्रेस द्वारा आहूत 'भारत बंद' को विपक्ष की हताशा का नतीजा करार देते हुए कहा कि उससे इससे ज्यादा की उम्मीद भी नहीं की जा सकती।     

योगी ने संवाददाताओं से बातचीत में भारत बंद के सवाल पर कहा कि यह विपक्ष की नकारात्मक सोच है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जब भारत दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में आगे बढ़ रहा है। जनकल्याणकारी योजनाएं चल रही हैं, जिनका लाभ समाज के हर तबको को मिल रहा है, ऐसे में हताश-निराश विपक्ष, जिसमें कोई नेतृत्व नहीं है, कोई नीति नहीं, आगामी कायरें के लिये कोई रणनीति नहीं। उस विपक्ष से इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं की जा सकती।      

उन्होंने कहा ''भगवान उन्हें (विपक्ष को) सद्बुद्धि दे कि वे सही मायने में विकास के मुद्दे पर सरकार का सहयोग करें। विपक्ष अगर नकारात्मक के बजाय सकारात्मक भूमिका में रहेगा तो उसकी प्रासंगिकता भी बनी रहेगी, वरना नकारात्मकता उन्हें विपक्ष में बैठने लायक भी नहीं छोड़ेगी।     

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा कि देश में पेट्रोल और डीजल के दामों में बेतहाशा वृद्धि हो रही है और केन्द्र सरकार इन्हें काबू करने के लिये कुछ भी नहीं कर रही है। कांग्रेस आम लोगों की लड़ाई आगे भी लड़ती रहेगी।     सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कांग्रेस द्वारा आहूत 'भारत बंद' के बारे में पूछे जाने पर कहा ''ऐसे में जब विपक्ष विरोध कर रहा है, आज सुबह भी पेट्रोल और डीजल के दामों में कुछ पैसों की बढ़ोत्तरी कर दी गयी। महंगाई को लेकर मोदी सरकार का रवैया देखकर आम आदमी के प्रति उसकी संवेदनहीनता जाहिर होती है।''     

भाजपा को अहंकारी पार्टी करार देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा ''वे (भाजपा) कहते हैं कि वह अगले 50 साल तक राज करेंगे। यह उनके अहंकार को दिखाता है। यह सरकार का अहंकार है कि वह सोचती है कि महंगाई से क्या होगा। वह यह भी कह सकती है कि महंगाई से खुशहाली आती है। वह पिछले तीन उपचुनावों में मिली करारी हार को भूल गयी है। लोग अब इस कुशासन से खुद को आजाद करने का इंतजार कर रहे हैं।''