आईसीआईसीआई मामला : सीबीआई ने न्यूपॉवर के सीएफओ से पूछताछ की

आईएएनएस, नई दिल्ली

केंद्रीय जांच ब्यूरो ने वीडियोकॉन को 3,250 करोड़ रुपये ऋण प्रदान करने के मामले में बुधवार को न्यूपॉवर रीन्यूएबल्स प्राइवेट लिमिटेड के सीएफओ से पूछताछ की। एजेंसी के एक अधिकारी ने बताया कि न्यूपॉवर के सीएफओ व प्रमुख सुनील भूता से यहां सीबीआई मुख्यालय में पूछताछ की गई।

चार्टर्ड अकांउटेंट भूता न्यूपॉवर की स्थापना के समय से ही कंपनी के वित्तीय मामले, लेखा, अंकेक्षण व कर संबंधी कार्यो की जिम्मेदारी संभालते थे।

सूत्रों के मुताबिक, ऋण संबंधी दस्तावेजों और विवरणों के परीक्षण के बाद मामले में आईसीआईसीआई सीईओ चंदा कोचर के पति दीपक कोचर और वीडियोकॉन के प्रमुख वेणुगोपाल धूत से भी पूछताछ की जा सकती है।

सीबीआई ने 12 अप्रैल को कंपनी के निदेशक महेश चंद्र पुंगलिया और उमानाथ वेंकट नायक से पूछताछ की थी।

पुंगलिया धूत के सहयोगी हैं और न्यूपॉवर कंपनी दीपक कोचर और धूत ने दिसंबर 2008 में बनाई थी।

इससे पहले जांच एजेंसी ने चंदा कोचर के रिश्तेदार राजीव कोचर से लगातार पांच दिन तक पूछताछ की थी।

सीबीआई ने 2012 में बैंकों के समूह के हिस्से के तौर पर आईसीआईसीआई बैंक द्वारा वीडियोकॉन समूह को ऋण प्रदान करने में गलत तरीका अपनाने या अन्यथा की बात सुनिश्चित करने के लिए दीपक कोचर और वीडियोकॉन समूह के अधिकारियों के खिलाफ प्रारंभिक जांच का मामला दर्ज किया है।

मामले में चंदा कोचर सवालों के घेरे में हैं, मगर प्रारंभिक जांच में उनका नाम नहीं आया है। मामला वीडियोकॉन के चेयरमैन द्वारा 64 करोड़ रुपये एक कंपनी को ऋण देने की खबरों के बाद दर्ज किया गया। यह कंपनी दीपक कोचर और धूत ने मिलकर बनाई थी और कंपनी को ऋण बैंक द्वारा समूह को 3,250 करोड़ रुपये कर्ज देने के छह महीने बाद दिया गया था।