आंध्र प्रदेश में नौका पलटने से 22 लोगों की मौत, 12 शव बरामद

आईएएनएस, विजयवाड़ा

आंध्र प्रदेश की गोदावरी नदी में मंगलवार शाम नौका पलट जाने से 22 लोगों की मौत हो गई। बुधवार को बचाव कार्यकर्ताओं ने दो बच्चों सहित 12 शवों को बरामद किया है। अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी।


घटना को 24 घंटे बीत जाने के बाद भी लापता लोगों की तलाश जारी है।

बचाव कर्मियों ने नौकाओं और भारी क्रेनों की सहायता से डूबी नौका को बाहर निकाला। इससे पहले, नौसेना ने डूबी नौका का पता लगाया, जिसके बारे में कहा गया है कि यह 60 फुट की गहराई पर मिली है।

नौसेना के हेलीकॉप्टर की मदद से बचाव कार्य में नौसेना की टीम, राज्य आपदा प्रबंधन विभाग और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के कर्मचारी शामिल हैं।

बचाव अभियान का जायजा लेने घटनास्थल पर पहुंचे मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने पत्रकारों से कहा कि अभी 10 और शव बाहर निकाले जाने बाकी हैं।

उन्होंने कहा कि नाव में कुल 44 लोग सवार थे जिसमें से आधे सुरिक्षत रूप से तैर कर पार गए।

यह घटना पूर्वी गोदावरी जिले के देवीपट्टनम ब्लॉक में मंटुरु के पास शाम पांच बजे के करीब घटित हुई।

कोंदामोदालु से रवाना हुई नौका राजामहेंद्रवरम की ओर जा रही थी। माना जा रहा है कि तेज हवाओं के चलते यह हादसा हुआ।

नायडू ने हर मृतक के परिजन को 10 लाख रुपये सहायता राशि देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि सरकार पीड़ितों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी मुहैया कराएगी और उनके बच्चों के लिए निशुल्क शिक्षा की व्यवस्था करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मानवीय भूल की वजह से यह हादसा हुआ। उन्हें जानकारी दी गई कि नौका पर सीमेंट की बोरियां और दोपहिया वाहन लदे हुए थे।

जब तेज हवा चलने लगी और बारिश होने लगी तो नौका में सवार लोगों ने खिड़कियां बंद कर दी और नौका डूबने लगी। खिड़कियों के बंद होने से बच निकलने का रास्ता भी बंद हो गया।