अरुण जेटली का ऐलान: पेट्रोल और डीजल 2.50 रुपये होगा सस्ता

वार्ता/भाषा, नई दिल्ली

सरकार ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम पर लगाम लगाने और उपभोक्ताओं को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से गुरुवार को पेट्रोल और डीजल के उत्पाद शुल्क में डेढ़ रुपये प्रति लीटर की कटौती करने की घोषणा की। इसके अलावा तेल कंपनियां भी एक रुपये प्रति लीटर दाम घटायेंगी जिससे उपभोक्ताओं को प्रति लीटर 2.50 रुपये की राहत मिलेगी।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यहां संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा करते हुये कहा कि इससे पेट्रोल और डीजल के दाम ढाई रुपये प्रति लीटर कम हो जायेंगे। जेटली ने कहा कि कल लंदन के ब्रेंट क्रूड का वायदा 86 डॉलर प्रति बैरल के पार चला गया था और अमेरिका में ब्याज दर भी बढ़कर 3.2 प्रतिशत हो गया है, जो सात साल  का उच्चतम स्तर है। इससे वैश्विक बाजार और विनिमय दर पर असर पड़ा है। इन सबका प्रभाव यह हुआ कि अमेरिका में फिर से  डॉलर का निवेश बढ़ गया है।

वित्त मंत्री ने कहा कि हमें वित्तीय घाटा पर असर डाले बिना स्थिति के अनुसार प्रतिक्रिया और राहत देनी होगी। उन्होंने कहा कि तेल विपणन कंपनियों को विदेशी बाजार से तेल बांड के जरिये 10 अरब डॉलर जुटाने की अनुमति दी गयी है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने उधारी जुटाने में 70 हजार करोड़ रुपये की कमी करते हुये तेल विपणन कंपनियों को यह अनुमति दी है। इसके साथ ही सरकार ने आयात कम करने के लिए कई कदम उठाये हैं। इसके साथ मसाला बांड के जरिये राशि जुटाने की प्रक्रिया को लचीला बनाया गया है। इन सब वृहद आर्थिक कारकों से अर्थव्यवस्था में अस्थायीत्व देखने को मिलेगा।

वित्त मंत्री ने राज्यों से कर में कटौती के लिए कहे जाने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि इसके लिए सीधे राज्यों से नहीं कहा जा सकता है लेकिन इसको लेकर वह राज्यों को पत्र लिखेंगे।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद सरकार ने उनके दाम कम करने के इन उपायों की घोषणा की है। पेट्रोल-डीजल की सबसे कम कीमत सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में दिल्ली में है। दिल्ली में पेट्रोल 84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 75.45 रुपये प्रति लीटर पर है।