अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला बारबरा बुश का निधन

भाषा, वाशिंगटन / ह्यूस्टन

अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला और एक अन्य पूर्व राष्ट्रपति की मां बारबरा पियर्स बुश का निधन हो गया। वह 92 वर्ष की थी।  ह्यूस्टन में अपने घर में जब उन्होंने अंतिम सांस ली तो उनके साथ उनके पति पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज हर्बर्ट वॉकर बुश और बेटा एवं पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज वॉकर बुश परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मौजूद थे।           

उनके पति के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है, ‘अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला और पारिवारिक साक्षरता की पुरजोर समर्थक रहीं बारबरा पियर्स बुश का 92 वर्ष की आयु में मंगलवार, 17 अप्रैल 2018 को निधन हो गया।’ बुश और बारबरा ने 73 साल पहले शादी की थी।           

वह 16 साल की उम्र में पहली बार बुश से मिली थीं और उस समय वह स्कूल में पढती थी। उन्होंने वर्ष 1945 में शादी की जब नौसैन्य अधिकारी बुश छुट्टी लेकर आए।         

बयान में कहा गया है कि अंतिम संस्कार के बारे में जल्द से जल्द घोषणा की जाएगी। उनके परिवार में पति , पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश समेत पांच बच्चे और उनका भाई स्कॉट पियर्स , 17 नाती - पोते और सात पड़पोते - पड़पोतियां हैं। पिछले कुछ वर्षों से वह फेफड़ों से संबंधित बीमारी से पीड़ित थीं।  
         
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रथम महिला मेलानिया ने कहा कि एक पत्नी, मां , दादी - नानी , सैन्य अधिकारी की पत्नी और पूर्व प्रथम महिला के रूप में बारबरा बुश अमेरिकी परिवार की समर्थक थीं।           

एक अन्य बयान में ट्रंप ने कहा कि पूर्व प्रथम महिला को व्हाइट हाउस , राष्ट्रपति पद और अमेरिका में एकता एवं गरिमा लाने के लिए हमेशा याद किया जाएगा। मेलानिया ट्रंप ने भी बारबरा बुश के निधन पर शोक जताया है। न्यूयॉर्क निवासी बारबरा बुश 1989 में प्रथम महिला बनीं जब उनके पति को अमेरिका का राष्ट्रपति चुना गया। वह 1993 तक प्रथम महिला रहीं।           

इसके बाद उनका बेटा जॉर्ज डब्ल्यू बुश भी वर्ष 2001 से 2009 तक अमेरिका के राष्ट्रपति पद पर रहा।           

जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने एक बयान जारी कर कहा कि उनकी ‘प्रिय मां’ का निधन हो गया है और परिवार को उनकी कमी खलेगी। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और प्रथम महिला मिशेल ने कहा कि वह जनता की सेवा में समर्पित परिवार का स्तंभ थीं।