अफगानिस्तान : दूसरे दिन भी आतंकी हमला

एजेंसियां, काबुल

सशस्त्र आतंकियों ने यहां नेशनल डॉयरेक्टरेट ऑफ सिक्योरिटी (एनडीएस) के एक प्रशिक्षण केंद्र पर हमला किया, जिसके बाद सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।
गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नसरत रहीमी ने कहा, हमला पूर्वाह्न 10:15 बजे तब शुरू हुआ, जब आतंकवादियों ने काला-ए-वजीर में अफगानिस्तान खुफिया एजेंसी के समीप एक इमारत से गोलीबारी शुरू कर दी। समाचार एजेंसी एफे ने रहीमी के हवाले से कहा, हमलावरों ने प्रशिक्षण केंद्र को निशाना बनाने के लिए मशीनगन का इस्तेमाल किया। आतंकवादियों और हताहतों की संख्या का पता नहीं चल पाया है।
काबुल पुलिस के प्रवक्ता हशमत स्टानेकजई ने टोलो न्यूज को बताया, सुरक्षा बलों ने क्षेत्र को घेर लिया और आस-पास के निवासियों को वहां से निकालने की कोशिश की गई।
आईएस ने हमले की जिम्मेदारी ली : इस्लामिक स्टेट समूह ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक दिन पहले हुए भीषण आत्मघाती बम हमले की जिम्मेदारी ली है। शिया क्षेत्र में हुए इस हमले में 48 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 67 अन्य घायल हो गए। आईएस से संबद्ध समाचार एजेंसी ‘आमाक’ के जरिये आज इस हमले की जिम्मेदारी ली गई।
यूएन ने हमले की निंदा की : संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के एक शैक्षणिक केंद्र पर हुए हमले की निंदा की। सुरक्षा परिषद ने इस हमले को ‘जघन्य और भयावह’ करार दिया है। बुधवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में परिषद ने दोहराया कि अपने सभी रूपों  में आतंकवाद अंतर्राष्ट्रीय शांति व सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है। यूएनएससी ने आतंकवाद के दोषियों, आतंकवाद के आयोजकों, फाइनेंसरों और प्रायोजकों को जिम्मेदार ठहराने और उन्हें न्याय की जद में लाने की जरूरत पर जोर दिया।